स्टेट बैंक से 12 लाख के जेवरात चोरी

0
189

आजमगढ़ -सेवा निवृत्त सीनियर मार्केटिग इंस्पेक्टर का स्टेट बैंक की शाखा आजमगढ़ के मुख्य ब्रांच में लॉकर है। लॉकर में रखे गए 12 लाख रुपये के जेवर गायब हो गए। पांच साल बाद जब वे अपनी पत्नी संग लॉकर को ऑपरेट करने के लिए गए तो उसमें रखे सोने का जेवर गायब देख सन्न रह गए। पीड़ित ने बुधवार को एसपी से मिलकर चोरी हुए जेवर की बरामदगी को गुहार लगाई।

Live MCX

फूलपुर कोतवाली क्षेत्र के बनरहिया गांव के मूल निवासी व सेवा निवृत्त सीनियर मार्केटिग इंस्पेक्टर ज्ञान प्रकाश सिंह पुत्र स्व. राम कलफ सिंह सिधारी थाना क्षेत्र के हरबंशपुर मोहल्ला में मकान बनवाकर परिवार समेत रहते हैं। उन्होंने स्टेट बैंक की शाखा सिविल लाइन के मुख्य ब्रांच में पत्नी नीलम के नाम से ज्वाइंट लाकर लिया है। लॉकर में पत्नी, विवाहित पुत्री व दो पुत्रवधुओं का आभूषण रखा था।

वर्ष 2014 के बाद कभी अपने लॉकर का आपरेट करने के लिए नहीं गए। एक जून को शादी की सालगिरह है। इसलिए वे अपनी पत्नी संग मंगलवार को स्टेट बैंक पहुंच कर लॉकर में रखे पत्नी का आभूषण निकालने के लिए गए। लॉकर में उन्होंने अलग से एक अपना ताला भी लगाया है। बैंक मैनेजर लॉकर में मास्टर चाबी लगाने के बाद चले गए तो उन्होंने अपनी चाबी लगाकर लाकर खोला। लॉकर के अंदर रखे जेवर डिब्बे समेत गायब देख वे सन्न रह गए। बैंक मैनेजर को बताया तो बैंक मैनेजर ने कहा कि उनकी कोई जिम्मेदारी नहीं है। ज्ञान प्रकाश अपनी पत्नी नीलम सिंह व सास शारदा सिह के साथ बुधवार को एसपी से मिलकर गुहार लगाई। एसपी ने मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया।

पीड़ित दंपति का कहना है कि गायब हुए जेवर बारह लाख से अधिक के हैं। वहीं पूछे जाने पर बैंक मैनेजर ने कहा कि लॉकर की जिम्मेदारी उपभोक्ता की है। एक चाबी उपभोक्ता के पास रहती है। वह क्या रख रहा है क्या निकाल रहा है इसकी जानकारी उन्हें नहीं होती है। लॉकर से जेवर गायब होने की बात तो यह जांच के बाद ही पता चल पाएगा।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here