पृथ्‍वी पर कैसे आईं सोना, चांदी और प्लैटिनम जैसी बेशकीमती धातुएं, वैज्ञानिकों ने बताई यह वजह

0
92

दुनिया के अलग-अलग हिस्सों में कीमती धातुओं (सोना, चांदी, प्लैटिनम, यूरेनियम आदि) का खजाना दफन है। अब सवाल यह पैदा होता है कि आखिर ये धातुएं पृथ्वी में आईं कैसे। क्या यह भूगर्भ की रासायनिक प्रक्रिया के कारण बने हैं या किसी अन्य कारण से इनका निर्माण हुआ। अमेरिकी वैज्ञानिकों ने इन कीमती धातुओं के पृथ्वी पर मिलने के बारे में एक नई अवधारणा पेश की है।

Live MCX

वैज्ञानिकों ने एक अध्ययन में दावा किया है कि सुपरनोवा के कारण ही पृथ्वी को सोने और प्लैटिनम जैसी कीमती धातुओं का उपहार मिला है। सुपरनोवा किसी तारे में हुए भयंकर विस्फोट को कहते हैं। इससे निकलने वाला प्रकाश और विकिरण इतना जोरदार होता है कि कुछ समय के लिए पूरी आकाशगंगा धुंधली हो जाती है।

कनाडा की गुएफ यूनिवर्सिटी (University of Guelph in Canada) और अमेरिका की कोलंबिया यूनिवर्सिटी (Columbia University) के शोधकर्ताओं द्वारा किया गया अध्ययन पृथ्वी पर पाए जाने वाले भारी और कीमती तत्वों के बारे में हमारी समझ को पलट देता है। नेचर जर्नल में प्रकाशित अध्ययन के मुताबिक, ब्रह्मांड में लगभग 80 फीसद भारी और कीमती तत्व कोलैप्सार्स प्रक्रिया के दौरान दुनिया में आईं। कोलैप्सार्स सितारों के टूटने की एक दुर्लभ प्रक्रिया है और यह सुपरनोवा के दौरान ही घटित होती है। इस दौरान भारी मात्र में धातुएं टूटे तारे से निकलती हैं।

उन्‍होंने कहा कि एक अनुमान ऐसा भी है कि ये कीमती तत्व पृथ्वी के साथ-साथ अन्य ग्रहों पर भी हो सकते हैं, क्योंकि विस्फोट के बाद जब धातुओं का बिखराव होना शुरू हुआ होगा तो गुरुत्वाकर्षण के कारण ये तत्व निश्चित तौर पर अन्य ग्रहों पर भी गिरे होंगे। इस शोध से हमारी आकाशगंगा के निर्माण के बारे में सुराग मिल सकता है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here