डिमांड घटने से सर्राफा बाजार में पसरा सन्नाटा, संकट में ज्वैलरी कारीगर

0
75

सोने की लगातार घटती डिमांड ने ज्वेलरी सेक्टर को परेशानी में डाल रखा है। ऐसे में बजट में ड्यूटी बढ़ाने के फैसले ने करेले पर नीम का काम किया है और अब इसका असर ज्वेलरी कारीगरों की रोजी-रोटी पर दिख रहा है। इन दिनों सोने की डिमांड ऐसे गिर रही है कि इनकी आमदनी और रोजगार दोनों खतरे में हैं। नतीजा अब ये कमाई के दूसरे विकल्प ढूंढने पर मजबूर हो गए हैं।

Live MCX

जेम्स एंड ज्वेलरी कॉउंसिल के देश में 2 करोड़ ज्वेलरी कारीगर हैं। आगरा के किनारी बाजार में अकेले करीब 1000 ऐसे कारीगर काम करते हैं। कारीगर एसोसिएशन के मुताबिक पिछले 10-12 दिनों में ही आधे कारीगर काम छोड़कर जा चुके हैं। ज्वेलरी कारोबारियों को उम्मीद थी कि बजट में इम्पोर्ट ड्यूटी घटेगी। लेकिन सरकार ने उल्टा ड्यूटी बढ़ाकर 10 से साढे बारह परसेंट कर दी।

ज्वेलर कह रहे हैं कि बजट आने के बाद से डिमांड तेजी से गिर रही है। रोजगार के मोर्चे पर सरकार लगातार विपक्ष की तीखी टिप्पणियां सुनती आयी है। ऐसे में एक बड़े लेबर इंटेंसिव सेक्टर में बेरोजगारी का ये दौर सरकार की मुश्किलें बढ़ा सकता हैं।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here