चुनावी चाल से ज्वैलर्स की फीकी गुड़ी पाडवा

0
200

सोने की ऊंची कीमतें, चुनाव आयोग की सख्ती और हॉलमार्किंग के नए नियमां से इस बार गुडी पाडवा की चमक फीकी रहने वाली है। गुडी पाडवा महाराष्ट्र में सोने की खरीदारी का एक अहम अवसर होता है। पिछले एक महीने में सोने की कीमतों में कमी जरूर आई है, लेकिन खरीदारों  और आंकड़ो के अनुसार इस बार गुडी पाडवा पर खरीदारी कम होने की आशंका है। वैसे तो औसतन हर दिन 250 करोड़ रू का आभूषण का कारोबार होता है, लेकिन गुडी पाडवा पर बिक्री बढ़कर 500-600 करोड़ रू तक पहुंच जाती है। इस बार कहानी कुछ अलग है और बिक्री करीब 30 फीसदी कम रहने वाली है। राज्य में आज 6 अप्रैल को यह पर्व मनाया जाएगा।

Live MCX

यह पर्व महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और गोवा के अलावा देश के दक्षिण भारतीय राज्यों में प्रमुखता के साथ बनाया जाता है। जिस तरह लोग दशहरा, धनतेरस और अक्षय तृतीय के दिन सोना खरीदना शुभ मानते हैं उसी तरह गुडी पाडवा का भी अपना महत्व है। फिलहाल सोने की कीमत 31,500 रू प्रति 10 ग्राम के आसपास है, जबकि पिछले साल गुडी पाडवा पर इसकी कीमत 30,310 रू थी। कीमत के हिसाब से यह सबसे महंगा गुडी पाडवा है, जिसका अससर सोने की खरीदारी पर पड़ रहा है। हालांकि आभूषण कारोबारियों का कहना है कि इस त्योहार पर सोनेकी कीमतों का खास असर नहीं पड़ता है कि पिछले डेढ़ महीने में सोने के दाम करीब सात फीसदी टूट चुके है ओर लोग यह समझ चुके है कि भारतीय बाजार में सोने के दाम 31-33 हजार के बीच रहने वाले है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here