आरबीआई ने रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती की, जानें- इससे क्या होगा लाभ

0
176

नई दिल्ली-अर्थव्यवस्था की घटती रफ्तार के बीच गुरूवार को आर.बी.आई गवर्नर ने रेपो रेट में 25 बेसिस प्वाइंट की कटौती कर दी. यानि अब बैंक आरबीआई से सस्ती दर पर कर्ज ले पाएंगे. इससे होम लोन के साथ-साथ उद्योग जगत के लिए क्रेडिट के सस्ता होने की उम्मीद फिर बंधी है. आरबीआई के गवर्नर ने एक राहत बैंकों को दी और दूसरी आम लोगों को. रेपो रेट 6 फीसदी से घटकर 5.75 फीसदी कर दिया गया. इस साल ये तीसरी कटौती है. खास बात ये भी है कि अब आर.टी.जी.एस, नेफ्ट ट्रांजैक्शन पर कोई चार्ज भी नहीं लगेगा. यानी आप जब ऑनलाइन कोई पैसा किसी को भेजते हैं तो इस पर लगने वाला चार्ज अब नहीं लगेगा. 

Live MCX

दरअसल आरबीआई गवर्नर को एहसास है कि अर्थव्यवस्था इस साल भी धीमी रहेगी. विकास दर के अनुमान को 7.2 फीसदी से घटा कर 7 फीसदी कर दिया गया. उद्योग जगत मानता है कि अब आरबीआई को बैंकों के साथ मिलकर इस रेट कट का फायदा आम उपभोक्ताओं तक पहुंचाना होगा. पिछले दो रेट कट का फायदा बैंकों ने उपभोक्ताओं को नहीं दिया है.

एसोचैम के उपाध्यक्ष निरंजन हीरानंदानी ने न्यूज चैनल्स से कहा कि जो राहत आरबीआई बैंकों को दे रही है, वो राहत बैंक आम लोगों को नहीं दे रहे हैं. ये चिंता की बात है. इकोनॉमिक स्लोडाउन की सबसे बड़ी वजह है मार्केट में लिक्विडिटी की कमी. जब तक लिक्विडिटी इंप्रूव नहीं होगी, इकॉनोमी की हालत ठीक नहीं होगी. दूसरी तरफ, सरकार को उम्मीद है कि कमजोर पड़ती अर्थव्यवस्था को उबारने की दिशा में आरबीआई का फैसला महत्वपूर्ण है.

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here