ज्वैलर केशव अग्रवाल भी चाहते है, आगरा उपचुनाव में टिकट, लेकिन क्या वह इसके लायक है?

0
116

गौरतलब है, कि 19 मई को आगरा उत्तरी विधासभा सीट पर चुनाव होने वाले है, लोग टिकट पाने के लिए एड़ी-चोटी का जोर लगा रहे है, करीब 70 से 80 लोग टिकट लेने के लिए लखनऊ दिल्ली तक जोर लगा रहे है, वो तो देखने वाली बात है, कि बीजेपी सरकार किसको टिकट देती है, इस बीच यह खबर भी जोरो पर है, कि बीजेपी के कार्यकता और आगरा के छवी ज्वैलर्स के मालिक केशव अग्रवाल भी अपनी दावेदारी साबित करने और टिकट लेने के लिए काफी मशकत्त कर रहे है, और हो सकता है की इस बार टिकट उन्हें ही प्राप्त हो।

Live MCX

वैसे अगर केशव अग्रवाल की बात की जाए तो नोट बंदी के समय उनकी फर्म छवि ज्वैलर्स से पुरानी कंरसी की करीब 2.5 करोड़ की अघोषित संपत्ति जब्त की गयी थी। और उनपर एक रैली के दौरान एक दलित व्यक्ति को पीटने एवं जातिसूचक बोलने के भी आरोप लगते रहे है। सूत्रो का कहना है, कि केशव अग्रवाल पर सितम्बर 2017 में किडनैपिंग करने का मामला भी सामने आया था। देखने वाली बात होगी, कि टिकट किसको मिलता है। इसके अलावा भी अलग अलग समय पर इनपर कई इल्जाम लगते रहे है। सोचने की बात यहाँ है केशव अग्रवाल ने अपना राजनैतिक प्रचार स्व. विधायक जगन प्रसाद गर्ग जी के देहांत के बाद और जोर शोर से क्यो शुरू कर दिया। एक और जहा स्व. जगन प्रसाद गर्ग के परिवार से वैभव गर्ग को पार्टी के कई कार्यकर्ता समर्थन दे रहे है वही दूसरी और कई कार्यरत केशव अग्रवाल का समर्थन कर रहे है, अब देखने वाली बात होगी की वैश्य समाज उत्तरी विधानसभा सीट से किसको समर्थन देता है।

हर नेता कई का नाम नकारात्मक और सकारात्मक दोनों ही मुद्दों से जुड़ा होता है अगर केशव अग्रवाल की बात की जाए तो वह ज्वैलर्स के साथ-साथ बीजेपी पार्टी के युवा कार्यकर्ता भी है, आगरा में कही भी अगर बीजेपी की रैली होती है, तो वह बढ़ चढ़कर उसमें हिस्सा लेते है। और राजनीति में अपना कद बढ़ाने के लिए बीजेपी के साथ पूर्णनिष्ठा से जुड़े हुए है, लोगो का कहना है, कि वह फिल्म जगत पैसा भी लगाते है।
सोचने वाली बात यह भी है, कि अचानक कैसे विधायक रहे जगनप्रसाद की मृत्यु हो गयी उन्हे किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं थी, एक रैली में भाषण देने के दौरान अचानक उनको दिल को दौड़ा कैसे पढ़ा क्या किसी ने उनसे ऐसी बात कह दी कि जिससे उनको सदमा लगा और उनकी मृत्यु हो गई, वैसे उनकी मृत्यु को केशव अग्रवाल के साथ जोड़कर भी देखा जा रहा है। लेकिन इसका कोई साक्ष्य नहीं है।

Facebook Comments

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here